how to be healthy – स्वस्थ रहने की 9 अच्छी आदतें जो आपको रखेगी स्वस्थ

1
47
how to be healthy स्वस्थ कैसे रहे
Content Protection by DMCA.com

how to be healthy स्वस्थ रहने की 9 अच्छी आदतें जो आपको कोरोना से बचने में मदद करेंगी 

दोस्तों आज हम लोग ऐसी 9 आदते जानने वाले है जिन्हें अपनाकर आप स्वस्थ रह सकते है क्योकि आजकल कोरोना वायरस का संक्रमण भी बहुत तेजे से फ़ैल रहा है !

स्वस्थ कैसे रहे – how to maintain health 

कहीं भी बाहर से घर आने के बाद, किसी बाहरी वस्तु को हाथ लगाने के बाद, खाना बनाने से पहले, खाने से पहले, खाने के बाद और बाथरूम का उपयोग करने के बाद हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोएं।

यदि आपके घर में कोई छोटा बच्चा है तब तो यह और भी जरूरी हो जाता है। उसे हाथ लगाने से पहले अपने हाथ अच्छे से जरूर धोएं।

ये है स्वस्थ रहने की 9 ऐसे तरीके जिनके मदद से आप अपने शरीर को healthy बना सकते है !

how to be healthy – 

  1. घर में सफाई पर खास ध्यान दें, विशेषकर रसोई तथा शौचालयों पर। पानी को कहीं भी इकट्ठा न होने दें। सिंक, वॉश बेसिन आदि जैसी जगहों पर नियमित रूप से सफाई करें तथा फिनाइल, फ्लोर क्लीनर आदि का उपयोग करती रहें। खाने की किसी भी वस्तु को खुला न छोड़ें।

कच्चे और पके हुए खाने को अलग-अलग रखें। खाना पकाने तथा खाने के लिए उपयोग में आने वाले बर्तनों, फ्रिज,       ओवन आदि को भी साफ रखें। कभी भी गीले बर्तनों को रैक में नहीं रखें, न ही बिना सूखे डिब्बों आदि के ढक्कन     लगाकर  रखें।

2.  ताजी सब्जियों-फलों का प्रयोग करें। उपयोग में आने वाले मसाले, अनाजों तथा अन्य सामग्री का भंडारण भी सही तरीके से करें तथा एक्सपायरी डेट वाली वस्तुओं पर तारीख देखने का ध्यान रखें।

3. बहुत ज्यादा तेल, मसालों से बने, बैक्ड तथा गरिष्ठ भोजन का उपयोग न करें। खाने को सही तापमान पर पकाएं और ज्यादा पकाकर सब्जियों आदि के पौष्टिक तत्व नष्ट न करें। साथ ही ओवन का प्रयोग करते समय तापमान का खास ध्यान रखें। भोज्य पदार्थों को हमेशा ढंककर रखें और ताजा भोजन खाएं।

4. खाने में सलाद, दही, दूध, दलिया, हरी सब्जियों, साबुत दाल-अनाज आदि का प्रयोग अवश्य करें। कोशिश करें कि आपकी प्लेट में ‘वैरायटी ऑफ फूड’ शामिल हो। खाना पकाने तथा पीने के लिए साफ पानी का उपयोग करें। सब्जियों तथा फलों को अच्छी तरह धोकर प्रयोग में लाएं।

5. खाना पकाने के लिए अनसैचुरेटेड वेजिटेबल ऑइल (जैसे सोयाबीन, सनफ्लॉवर, मक्का या ऑलिव ऑइल) के प्रयोग को प्राथमिकता दें। खाने में शकर तथा नमक दोनों की मात्रा का प्रयोग कम से कम करें।

जंकफूड, सॉफ्ट ड्रिंक तथा आर्टिफिशियल शकर से बने ज्यूस आदि का उपयोग न करें। कोशिश करें कि रात का खाना आठ बजे तक हो और यह भोजन हल्का-फुल्का हो।

6. अपने विश्राम करने या सोने के कमरे को साफ-सुथरा, हवादार और खुला-खुला रखें। चादरें, तकियों के गिलाफ तथा पर्दों को बदलती रहें तथा मैट्रेस या गद्दों को भी समय-समय पर धूप दिखाकर झटकारें।

7. मेडिटेशन, योगा या ध्यान का प्रयोग एकाग्रता बढ़ाने तथा तनाव से दूर रहने के लिए करें।

8. कोई भी एक व्यायाम रोज जरूर करें। इसके लिए रोजाना कम से कम आधा घंटा दें और व्यायाम के तरीके बदलते रहें, जैसे कभी एयरोबिक्स करें तो कभी सिर्फ तेज चलें।

अगर किसी भी चीज के लिए वक्त नहीं निकाल पा रहे तो दफ्तर या घर की सीढ़ियां चढ़ने और तेज चलने का लक्ष्य रखें। कोशिश करें कि दफ्तर में भी आपको बहुत देर तक एक ही पोजीशन में न बैठा रहना पड़े।

9. 45 की उम्र के बाद अपना रूटीन चेकअप करवाते रहें और यदि डॉक्टर आपको कोई औषधि देता है तो उसे नियमित लें। प्रकृति के करीब रहने का समय जरूर निकालें।

बच्चों के साथ खेलें, अपने पालतू जानवर के साथ दौड़ें और परिवार के साथ हल्के-फुल्के मनोरंजन का भी समय निकालें।

 

Note –

अगर आप पढाई से सम्बंधित जानकारी चाहते है तो examsafalta.com  जरुर चेक करे क्योकि इस साईट प् आपको जॉब और एग्जाम की जानकारी मिल जायगी !

अगर आप ये सीखना चाहते है की Online रुपया कमाया जाए तो हमारा ये आर्टिकल जरुर चेक करे – Click Here

 

शरीर को स्वस्थ रखने के ये खाs तरीके है जिन्हें अपना कर आप स्वस्थ रह सकते है –

1. शुगर कैलोरी का सेवन कम करें
शुगर युक्त खाद्यपदार्थ/पेय, आपके शरीर में जाने वाले सबसे अधिक चर्बीयुक्त पदार्थों में से एक होते हैं। शुगर युक्त खाद्य पदार्थों/पेय से चर्बी बढ़ने का एक कारण यह भी होता है कि तरल शर्करा से कैलोरी को मापना आसान नहीं होता और हमारा मस्तिष्क भी इसमें उपस्थित शर्करा को नहीं मापता और उसी तरह यह ठोस भोजन के लिए भी करता है।

शुगर युक्त पेय मोटापे, टाइप 2 डायबिटीज, हृदय रोग और कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं को बढ़ाने के लिए काफी हद तक जिम्मेदार होते हैं।

कुछ फलों का जूस, सोडा जितना ही हानिकारक हो सकता है, क्योंकि इनमें कभी-कभी बस चीनी ही होती है। इनमे उपस्थित एंटीऑक्सिडेंट की कुछ मात्रा चीनी के हानिकारक प्रभावों को कम करने में सक्षम नहीं होती।

2. अधिक से अधिक मेवे खाएं
मेवे वसा में उच्च होने के बावजूद, अविश्वसनीय रूप से पौष्टिक और स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं। ये मैग्नीशियम, विटामिन ई, फाइबर, और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। बहुत से अध्ययनों के अनुसार नट्स आपका वजन कम करने में भी आपकी मदद कर सकते हैं और टाइप 2 डायबिटीज और हृदय रोगों से लड़ने में भी मदद करते हैं।

साथ ही, हमारा शरीर मेवे से 10 से 15% कैलोरी भी अवशोषित नहीं करता है। कुछ प्रमाण यह भी बताते हैं कि यह हमारे मेटाबोलिज्म को भी बढ़ावा दे सकता है

एक अध्ययन के अनुसार, कॉम्प्लेक्स कार्ब्स की तुलना में बादाम 62% तक वजन घटाने में सहायता करते हैं।

इसके बारे में भी विस्तार से पढ़ें: Dry Fruits Benefits in Hindi – ड्राई फ्रूट्स के फायदे

3. प्रोसेस्ड जंक फूड से बचें
प्रोसेस्ड जंक फूड अविश्वसनीय रूप से हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं। ये खाद्य पदार्थों विशेषकर आपके आनंद केंद्रों को ट्रिगर करने के लिए बनाये गए हैं, इसलिए ये आपके मस्तिष्क को अधिक से अधिक खाने में प्रवृत्त करते हैं – यहां तक कि कुछ लोगों में इनको खाने की लत को बढ़ावा देते हैं।

आमतौर पर इन खाद्य पदार्थों में फाइबर, प्रोटीन और सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी होती है, और हानिकारक तत्वों जैसे अतिरिक्त शर्करा और परिष्कृत अनाज इत्यादि सामग्रियों में उच्च होते हैं।

4. कॉफी पियें
बहुत से लोगों को कॉफी के बारे में गलत जानकारी होती है कि कॉफ़ी हमारी सेहत के लिए हानिकारक होती है किन्तु यह सत्य नहीं है। बहुत से अध्ययनों से यह सिद्ध हो चुका है कि कॉफी बहुत ही सेहतमंद होती है।

इसमें एंटीऑक्सिडेंट की उच्च मात्रा होती है, और अध्ययनों से यह भी पता चला है कि कॉफी का सेवन दीर्घायु और टाइप 2 डायबिटीज, पार्किंसंस और अल्जाइमर जैसी कई अन्य बीमारियों के जोखिम को कम करता है।

इसके बारे में भी विस्तार से पढ़ें: Green Coffee Benefits in Hindi – ग्रीन कॉफ़ी पीने के फायदे और नुकसान

5. वसायुक्त मछली का सेवन करें
मछली को उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन और स्वस्थ वसा का एक बड़ा स्रोत माना जाता है, विशेष रूप से वसायुक्त मछली, जैसे कि सामन, जो ओमेगा -3 फैटी एसिड और विभिन्न अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होती है।

एक अध्ययन से पता चला है कि जो लोग सबसे अधिक मछली खाते हैं, उनमें हृदय रोग, मनोभ्रंश (याददाश्त, भाषा, और लोगों को पहचानने में परेशानी होना) और अवसाद जैसी कई स्थितियों का जोखिम कम होता है।

6. पर्याप्त नींद लें – Health Tips in Hindi
हमारे जीवन में पर्याप्त गुणवत्ता वाली नींद का महत्व बहुत होता है जिसे नकारा नहीं जा सकता है। शायद आप विश्वास नहीं करेंगे पर आपकी खराब नींद या कम सोने से आपके शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध बढ़ सकता है, आपके भूख हार्मोन बाधित हो सकते हैं और आपके शारीरिक और मानसिक प्रदर्शन को कम कर सकती है।

इस सबके अलावा, खराब नींद आपके वजन बढ़ने और मोटापे के लिए सबसे अधिक उत्तरदायी होती है। एक अध्ययन के अनुसार अपर्याप्त नींद से 89% बच्चों में और 55% वयस्कों में मोटापे के खतरे को बढ़ा दिया।

7 .पर्याप्त पानी पीएं, विशेषकर भोजन से पहले
अपने पूरे दिन में पर्याप्त पानी का सेवन अवश्य करें, पर्याप्त पानी पीने के कई फायदे हो सकते हैं। यह आश्चर्यजनक रूप से, यह कैलोरी बर्न में आपकी सहायता कर सकता है।

अध्ययन के अनुसार यदि आप प्रतिदिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीते हैं तो यह 1-1.5 घंटों में आपके मेटाबोलिज्म को 24-30% तक बढ़ा सकता है। अगर आप 8.4 कप (2 लीटर) पानी प्रति दिन पीते हैं, तो आप प्रतिदिन 96 अतिरिक्त कैलोरी बर्न कर सकते है।

इसे पीने का इष्टतम समय प्रत्येक भोजन से 30 मिनट पहले का होता है। एक अध्ययन से पता चला है कि प्रत्येक भोजन से 30 मिनट पहले 2.1 कप (500 मिलीलीटर) पानी पीने से वजन घटाने में 44% तक की वृद्धि हो सकती है।

8 . मीट को अधिक न पकायें और न ही जलाएं
यदि आप माँसाहारी हैं तो मीट आपके आहार का एक पौष्टिक और स्वस्थ हिस्सा हो सकता है। इसमें उच्च मात्रा में प्रोटीनऔर कई महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं।

समस्या तब उत्पन्न होती है जब मांस को ओवरकुक यानी कि अधिक पकाया जाता है या यह पकते पकते जल जाता है। इससे मीट में हानिकारक यौगिकों का निर्माण हो सकता है जो आपके शरीर में कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। मांस पकाते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें या यह सुनिश्चित करें कि यह अधिक पका हुआ या जला हुआ नहीं होना चाहिए।

9 . सोते समय तेज रोशनी से बचें – Health Tips in Hindi
सोने से पहले यदि आप चमकदार रोशनी के संपर्क में आते हैं, तो यह आपके नींद हार्मोन मेलाटोनिन के उत्पादन को बाधित कर सकता है।

इससे बचने के लिए आप एम्बर-टिंटेड चश्मे का उपयोग कर सकते हैं जो शाम को नीली रोशनी को आपकी आंखों में प्रवेश करने से अवरुद्ध करता है। यह मेलाटोनिन का उत्पादन करने में मदद करता है जो पूरी तरह से अंधेरे में पैदा होता है, जिससे आपको बेहतर नींद आती है।

10. धूप लें या विटामिन डी 3 लें
जैसा कि आपको पता ही होगा, सूर्य का प्रकाश विटामिन डी का सबसे बड़ा स्रोत है। फिर भी, ज्यादातर लोगों को पर्याप्त सूरज का प्रकाश नहीं मिल पाता है। ऐसे में विटामिन डी की खुराक एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

इसे लेने के लाभों में आपकी हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार, शक्ति में वृद्धि, डिप्रेशन के लक्षणों में कमी और कैंसर का कम जोखिम शामिल है। विटामिन डी आपको लंबे समय तक जीवित रहने में मदद कर सकता है।

11. अधिक से अधिक सब्जियां और फल खाएं
सब्जियां और फल प्रीबायोटिक फाइबर, विटामिन, खनिज और कई एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते हैं, जिनमें से कुछ में शक्तिशाली जैविक प्रभाव होते हैं।

बहुत से शोध बताते हैं कि जो लोग अधिक सब्जियां और फल खाते हैं वे लंबे समय तक जीवित रहते हैं और उन्हें हृदय रोग, टाइप 2 डायबिटीज, मोटापा और अन्य बीमारियों का खतरा अन्य लोगों की तुलना में कम होता है।

12. पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन खायें
अच्छे स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त प्रोटीन का सेवन बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। इसके अलावा यह पोषक तत्व वजन घटाने में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। उच्च प्रोटीन का सेवन आपके मेटाबोलिज्म को काफी बढ़ावा दे सकता है। पर्याप्त प्रोटीन आपको देर रात को होने वाली स्नैकिंग की इच्छा को कम कर सकता है। पर्याप्त प्रोटीन का सेवन लो ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर के स्तर को भी कम करता है।

13 . कार्डियो व्यायाम करें – Health Tips in Hindi
एरोबिक व्यायाम करना, जिसे कार्डियो भी कहा जाता है, आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छी चीजों में से एक है। यह पेट की चर्बी (हानिकारक प्रकार की वसा जो आपके अंगों के आसपास बनती है) को कम करने में विशेष रूप से प्रभावी होता है, । पेट की चर्बी कम होने से मेटाबोलिज्म हेल्थ में बड़े सुधार हो सकते हैं।

14. धूम्रपान/ड्रग्स न करें, शराब का सेवन मॉडरेशन में करें
यदि आप धूम्रपान करते हैं या ड्रग्स लेते हैं, तो पहले उन समस्याओं से निपटें। आहार और व्यायाम की प्रतीक्षा कर सकते हैं।

यदि आप शराब पीते हैं, तो मॉडरेशन में पियें और यदि आप बहुत अधिक शराब पीते हैं तो इसे पूरी तरह कम करने पर विचार करें।

15 . जड़ी-बूटियों और मसालों का उपयोग करें
प्रकृति में अविश्वसनीय रूप से बहुत सी स्वस्थ जड़ी-बूटियाँ और मसाले मौजूद हैं।

उदाहरण के लिए, अदरक और हल्दी दोनों में प्रबल एंटीइंफ्लामेटरी और एंटीऑक्सिडेंट प्रभाव होते हैं, जो विभिन्न स्वास्थ्य लाभ के लिए अग्रणी होते हैं। इनके शक्तिशाली लाभों के कारण, आपको अपने आहार में अधिक से अधिक जड़ी बूटियों और मसालों को शामिल करने का प्रयास करना चाहिए।

16. अपने भोजन का ध्यान रखें – Health Tips in Hindi
यदि आप यह जानना चाहते हैं कि आप कितनी कैलोरी खाते हैं तो इसे जानने का एकमात्र तरीका है अपने भोजन की मात्रा का ध्यान रखना और एक पोषण ट्रैकर का उपयोग करना। साथ ही यह सुनिश्चित करना भी आवश्यक है कि आपको पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, फाइबर और सूक्ष्म पोषक तत्व मिल रहे हैं या नहीं।

अध्ययनों से पता चलता है कि जो लोग अपने भोजन के सेवन का ट्रैक रखते रखते हैं, वे वजन कम करने और स्वस्थ आहार पर अटल रहने में अधिक सफल होते हैं।

17. पेट की अधिक चर्बी से छुटकारा पाएं
शायद आपको पता न हो पर बेली फैट विशेष रूप से हानिकारक है। यह आपके अंगों के आसपास जमा हो जाता है और दृढ़ता से चयापचयी रोगों से जुड़ा होता है। इस कारण से, आपके कमर का आकार आपके वजन की तुलना में आपके स्वास्थ्य के लिए अधिक मजबूत मार्कर हो सकता है।

पेट की चर्बी से छुटकारा पाने के लिए कार्ब्स और अधिक प्रोटीन और फाइबर खाना चाहिए।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here